पहली बार अपनी गर्लफ्रेंड को सुजाता सिनेमा ले गए थे,फिल्म का नाम था “हमतुम” उस जमाने का प्रेम बहुत ही साधारण था,आज के परिवेष से,तीन घंटे साथ बैठे लेकिन स्पर्श नहीं किए,,

Advertisements

पहली बार अपनी गर्लफ्रेंड को सुजाता सिनेमा ले गए थे,फिल्म का नाम था “हमतुम” उस जमाने का प्रेम बहुत ही साधारण था,आज के परिवेष से,तीन घंटे साथ बैठे लेकिन स्पर्श नहीं किए,,

कश्मीर

तीन साल राजनीति और उतने ही साल समाजशास्त्र पढ़ने के अनुभव के आधार पर कह सकता हूँ कि कश्मीर में भाजपा ने जो किया है वैसा ही कुछ पीके ने किया था दोनों गाल पर भगवान की फोटो लगाकर ताकि लोग मारे न। लेकिन भाजपा भूल रही है कि उसकी कनपटी अब खाली ही रहेगी।

सत्ता

यदि आप यह भ्रम पाले बैठे हैं कि भारत-पाकिस्तान का युद्ध अब पक्का होगा तो इतना जान लीजिए दुनिया भर में चलन रहा है कि युद्ध के समय जो सरकार सत्ता में रही है उसे अगले चुनाव में घर बैठना पड़ा है और भगवान श्री नरेन्द्र मोदी सत्ता भी इसे जानते ही होंगे।

जितनी समझ हो उतनी ही समझदारी दिखानी चाहिए वरना भारी भरकम शब्द और औकात से ज्यादा बड़ी बातें भी एक वक्त के बाद अलग ही चूतिया साबित कर देती है